Sunday, October 23, 2016

GOLU GOSWAMI

1. जो वक्त का पाबन्ध होता है।
    वह जिन्दगी में सदैव सफल होता है।

2. हम जो भी काम करते है उसे तन्मयता के साथ करने पर वह कार्य सदैव सफल होता है।

3. हमारा ध्यान सदैव अपने लक्ष्य पर रहना चाहिए ।

रोग दुर भगाए =) ओम् गणायै पूर्णत्व सिध्दि देहि - देहि नम:
                       भगवती मृत संजीवनी मम् शांति कुरू - कुरू                          स्वाहा:

4. वक्त बहुत कम है, वक्त को बर्बाद न करो।
वक्त बिछुड़ जाएगा, वक्त को आजाद ना करो।

5. वक्त,  वक्त ए गीत है।
   वक्त,  वक्त ए कहानी है।
   वक्त, वक्त  ए शायरी है।
   वक्त, वक्त ए चुटकला है।
   वक्त है तो सब कुछ है, वक्त नही तो कुछ नहीं ।

गजल एक भारती