Saturday, February 4, 2017

छुना है जिसको आसमान

छुना है जिसको आसमान  बस एक बात  समझ लो,
सपनो से नही  होगी  उड़ान  बस एक  बात  समझ  लो।

कुछ  करके  दिखाना है तो कुछ  करना  ही  होगा।
रूकने  से  नहीं  होगा  काम  आगे  बढना  ही  होगा ।।

अब तो मैंने  भी समझ  ली,  अब तो तुम भी  समझ  लो।

जिसने छोड़ा  है  अपना  काम वो एक बात  समझ  लो।
अब  रूकने  से  नहीं  होगा  काम  बस  एक  बात समझ लो।।

By mad writer virendra bharti
                 8561887634

गजल एक भारती