Monday, November 21, 2016

Desire/ इच्छा

लेखक विरेन्द्र भारती
 19 June 2013

राजेश एक बहुत ही होनहार लड़का था। उसके पिताजी चाहते थे कि वह पढ़ लिख कर इन्जिनियर बने । इसीलिए उन्होंने उसे 11 वीं  12 वीं   में साइंस मैथ दिला दी । और साथ मैं यह भी कहा की तु ज्यादा नहीं तो डिग्री प्राप्त कर लें । तुझे नौकरी में दिला दूंगा वह गांव से इन्जिनियर की पढ़ाई करने जयपुर शहर में भेज दिया । वह  उसे पर महिने का खर्चा 3200 रूपए भी भेजते थे । पर राजेश का मन पढाई में नहीं लगता था। वह खुब पैसा व नाम दोनों कमाना चाहता था। वह चाहता था की लोग  उसे जाने । वह हर ऐशो-आराम पाना चाहता था; जिसके लिए वह बहुत पैसा कमाना चाहता था। वह खुद का एक व्यवसाय करना चाहता था।

गजल एक भारती